सोमवार, 27 अप्रैल 2015

जवा बुढ़ापा ले कहय

जवा बुढ़ापा ले कहय, निकल गेय दिन तोर ।
राम नाम भज तै बइठ, कर मत जादा शोर ।।
कर माता जादा शोर, टांग हर बात झन अड़ा ।
टुकुर टुकुर तै देख, नजर ला अपन झन गड़ा ।
बिते जमाना तोर, नवा दिन के बहत हवा ।
दुनियादारी आज, लगत हे एकदम जवा ।।