मंगलवार, 26 मई 2015

जुन्ना पारा गांव के

जुन्ना पारा गांव के, धंधाय हवय आज ।
बेजाकब्जा के हवय, खोर गली मा राज ।।
खोर गली मा राज, गांव के दुश्मन मन के ।
अपन गुजारा देख, गली छेके हे तन के ।।
कहत हवे ग ‘रमेश‘, बात ला थोकिन गुन्ना ।
चातर कर दे खोर, नीक लगही गा जुन्ना ।।