बुधवार, 17 जून 2015

काज कर धरम करम के

धरम करम के बात हा, कुरीति आज कहाय ।
चमत्कार विग्यान के, देख सबो मोहाय ।।
देख सबो मोहाय, आज के हमरे मुन्ना ।
एक्को झन नइ भाय, गोठ ला हमरे जुन्ना ।।
चमत्कार हे देह, धरम हे प्राण देह के ।
मिलही तोला मोक्छ, काज कर धरम करम के ।।