शुक्रवार, 26 जून 2015

हिम्मत कतका तोर हे

हिम्मत कतका तोर हे, लड़थस दूसर संग ।
बात बात मा तै करे, दूसर ला बड़ तंग ।।
दूसर ला बड़ तंग, करे बड़ गलती देखे ।
दउड़े पीसे दांत, हाथ मा लाठी लेके ।
बारी अपने देख, करे तैं कतका किम्मत ।
अपने गलती देख, हवय गर तोरे हिम्मत ।।