बुधवार, 3 जून 2015

जुन्ना तोरे गोठ ला

जुन्ना तोरे गोठ ला, बांधे रह गठियाय ।
हमला का करना हवय, जेन हमला बताय ।।
जेन हमला बताय, हवय ओ कतका मूरख ।
कोनो तो ना भाय, तभो देखावय सूरत ।।
नवा जमाना देख, होय सुख सुविधा दून्ना ।
धरे रहिस तकलीफ, जमाना तोरे जुन्ना ।।
-रमेेश चौेहान