रविवार, 19 जुलाई 2015

दाई बेटा ले कहे

दाई बेटा ले कहे, तैं करेजा हस मोर ।
जब बेटा हा बाढ़ गे, सपना ला दिस टोर ।।
सपना ला दिस टोर, आन ला जिगर बसाये ।
छोड़े घर परिवार, जवानी अपन देखाये ।।
सुन लव कहे ‘रमेश‘, सोच के करव सफाई ।
दुनिया के भगवान, तोर बर तोरे दाई ।।