सोमवार, 14 मार्च 2016

आवय हमला लाज

मनखे मनखे जोर लव, अपने दिल के साज ।
साज बाज अइसे गढ़व, होवय सबके काज ।।
काज एक जुरमिल करव, गढ़व देश के मान ।
मान जाय मा देश के, आवय हमला लाज ।