मंगलवार, 5 अप्रैल 2016

लहर लहर लहराये मइया, तोरे जोत जंवारा

लहर लहर लहराये मइया, तोरे जोत जंवारा ।
तोरे जोत जंवारा, हो मइया, तोरे जोत जंवारा ।।

अम्मावस के भींजे बिरही, मइया ला परघाये ।
मान मनौती एकम के सब, घी ले जोत जलाये ।
तोर रूप बिरवा मा आये, जग के होय सहारा ।
जग के होय सहारा, हो मइया, जग के होय सहारा

लहर लहर लहराये मइया, तोरे जोत जंवारा ।
तोरे जोत जंवारा, हो मइया, तोरे जोत जंवारा ।।

भगतन के श्रद्धा ले बिरवा, हाॅसत बाढ़त जावय
देव लोक ले देवन आये, तोरे जस ला गावय ।।
नव दिन नव राते ले मइया, होय तोर जयकारा ।
होय तोर जयकारा, हो मइया, होय तोर जयकारा

लहर लहर लहराये मइया, तोरे जोत जंवारा ।
तोरे जोत जंवारा, हो मइया, तोरे जोत जंवारा ।।