शनिवार, 3 सितंबर 2016

तीजा

करू करेला तैं हर रांध । रहिबो तीजा पेट ल बांध
तीजा मा निरजला उपास । नारीमन के हे विश्वास

छत्तीसगढ़ी ये संस्कार । बांधय हमला मया दुलार
धरके श्रद्धा अउ विश्वास । दाई माई रहय उपास

सीता के हे जइसे राम । लक्ष्मी के हे जइसे श्याम
गौरी जइसे भोला तोर । रहय जियर-जाँवर हा मोर

अमर रहय हमरे अहिवात । राखव गौरी हमरे बात
मांघमोति हा चमकय माथ । खनकय चूरी मोरे हाथ

नारी बर हे पति भगवान । मांगत हँव ओखर बर दान
काम बुता ला ओखर साज । रख दे गौरी हमरे लाज