मंगलवार, 8 दिसंबर 2015

दूसर के दरद मा रोना रोना होथे

आगी मा तिपे ले सोना सोना होथे ।
मन के सब मइल ला धोना धोना होथे ।
अपने के दरद मा जम्मा मनखे रोथे ।
दूसर के दरद मा रोना रोना होथे ।